भीड़ से अलग चलने में क्या जाता है?

secess story, student


भीड़ में सब चलते हैं, कुछ लोग उसमें गुम भी हो जाते हैं। जो लोग उससे हटकर चलते हैं यह नहीं कि उनका रास्ता आसान हो और उन्हें सफलता उसी समय मिल जाये, लेकिन शानदार अनुभव उनके पास ही होते हैं.

रिजल्ट आ गये। कई के लिए खुशियां आयीं ढेरों। कईयों को इस बात का मलाल है कि उन्होंने जैसा चाहा था, जैसा सोचा था वैसा हो न सका। कईयों का सपना है इंजीनियर बनना तो कईयों ने सोचा है कि वे मेडीकल के क्षेत्र में नाम कमायेंगे। किसी के माता-पिता के कुछ सपने हैं, तो किसी के मां-बाप को लगता है कि उनका बेटा या बेटी उनके सपने को एक उम्मीद की तरह देखें।

  मैंने कई छात्र-छात्राओं से बात की। मुझे एक बात ज्यादातर या यों कहें 95 प्रतिशत में यह लगी कि वे खुद कुछ ठीक तरह का नहीं सोच पा रहे। ऐसा लगा कि जैसे बचपन से माता-पिता की उम्मीदों को वे अभी तक सिर पर उठाये घूम रहे हैं। यह एक बोझ की तरह भी हो जाता है उनके लिए कभी-कभी। कई बार लगता है जैसे कि ऐसा क्यों हो रहा है? प्रश्न ढेरों होते हैं बच्चों के दिमाग में, लेकिन उत्तर स्वयं मिल नहीं पाता। दूसरों से पूछें तो सबसे पहले परिवार के वे ही लोग नजर आते हैं जिनके कारण ये प्रश्न उपजे हैं।

  बच्चों का अपना निशाना होता है। यह अलग बात है कि हम उनका सिर्फ मार्गदर्शन कर सकते हैं, लेकिन उनपर अपनी उम्मीदें थोप नहीं सकते।

  शुभांगी से मेरी बात हो रही थी तो कई अहम प्रश्न उभरकर सामने आये जैसे- क्या बच्चों को अपने बारे में सोचने का अधिकार नहीं? क्या उन्होंने भीड़ में चलने की आदत डाल ली है? क्या ऐसा देखा-देखी हो रहा है या कुछ ओर है?

Our FACEBOOK PAGE >> 

  मेरा शुभांगी से साफ कहना था कि तुम खुद भी तो सोचा कि तुम्हें क्या करना है। मुझे मालूम है कि दो साल पहले उसका एक अलग सपना था। फिर ऐसा क्या हुआ कि उसकी सोच बदल गयी। अब वह यह कह रही थी कि उसे कुछ ओर करना है। लेकिन इतना तय है कि वह कुछ बेहतर ही करेगी।

  सुमित के भी विचार बदल रहे हैं। वह कुछ विकल्पों पर विचार कर रहा है। हां, यह सही है कि हमें विकल्प हमेशा रखने होंगे। तभी तो बात आगे बढ़ेगी।

  इंजीनियर और डाक्टरों की भरमार है और इस दिशा में भेड़चाल भी है। इनके अलावा भी ऐसे क्षेत्र हैं जहां पर बच्चा अपनी प्रतिभा दिखा सकता है।

  मेरा मानना है कि भीड़ में सब चलते हैं, कुछ लोग उसमें गुम भी हो जाते हैं। जो लोग उससे हटकर चलते हैं यह नहीं कि उनका रास्ता आसान हो और उन्हें सफलता उसी समय मिल जाये, लेकिन शानदार अनुभव उनके पास ही होते हैं। वे ही आसानी से पहचाने जाते हैं क्योंकि वे अलग होते हैं और सफलता का स्वाद चखते हैं अपने तरीके से और एक संतुष्टि के खूबसूरत एहसास के साथ।

-Harminder Singh

Our FACEBOOK PAGE >>

Posts from School Live :

No comments