Header Ads

मेरे पापा कितने अच्छे



मुझे अपने पापा बहुत अच्छे लगते हैं। वे मेरा बहुत ख्याल रखते हैं। मुझे उनके साथ लुका-छुपी खेलने में बहुत मजा आता है। जब मम्मी मुझे डांटती हैं, तो वे मुझे अपने पास बुलाकर पुचकारते हैं।

मैं अपने पापा को बहुत प्यार करता हूं। हर संडे को उनके साथ खूब मस्ती करता हूं। उस दिन हम डिनर बाहर करते हैं। महीने में एक बार पापा मुझे सुन्दर खिलौने दिलाते हैं। ‘बनी’ मेरा फेवरेट है। पिछले जन्मदिन पर पापा ने मुझे वह गिफ्ट किया था। उस दिन ढेर सारे खिलौने मुझे मिले, मगर ‘बनी’ ही मेरा फेवरेट है क्योंकि उसे पापा ने मुझे दिया था।

जरुर पढ़ें :

कभी-कभी पापा और मैं मेरी छोटी बहन नेत्रा को मिलकर चिढ़ाते हैं। वह चिढ़कर मम्मी से हमारी शिकायत करती है। मम्मी बेलन लेकर जब हमारा पीछा करती हैं, तब हम दोनों गार्डन में जाकर छिप जाते हैं। इस चक्कर में कई बार मम्मी दूध गैस पर रखा छोड़ देती हैं या सब्जी जला बैठती हैं। बाद में पापा मम्मी से सोरी बोल देते हैं। मुझे भी इशारा कर ऐसा करने को कहते हैं।

मेरे पापा विजी रहते हैं। घर पर भी उनके बोस की फोन पर दस्तक होती ही रहती है। लेकिन वे हमारे लिए टाइम निकाल ही लेते हैं।

मुझे पापा ही एक बात सबसे ज्यादा अच्छी लगती है कि वे कभी गुस्सा नहीं करते।

उन्होंने मुझे तीन चीजें सिखायीं हैं :

सम्मान, सेवा और सच्चाई

-हरमिन्दर सिंह
(एक बच्चे की सोच के साथ)

इन्हें भी पढ़ें :

No comments