जिंदगी और शुद्ध विचार

shudh_vichar

जिंदगी की कोशिश रहती है कि वह खुश रहे, मुस्कराती रहे। हर इंसान को अपने जीवन में अच्छी बातों का समावेश कर आगे बढ़ना चाहिए। नकारात्मक बातों को त्याग कर जीवन जीने का अपना अलग ही आनंद होता है। हम चाहते हैं कि सब बेहतर हो, यह तभी हो सकता है कि जब हमारे विचारों में शुद्धि होगी। शुद्ध विचार इंसान को इंसान बनाते हैं। उसे जीवन का स्वच्छ पथ उपलब्ध करवाते हैं।

जीवन का महत्व इसलिए भी है क्योंकि इंसान संसार में अच्छे कर्मों को करने आया है। बुरे कर्म कर वह अपना जीवन बर्बाद कर रहा है। इसलिए हमें चाहिए कि हम केवल सद् कार्य करें ताकि हमारा जीवन सफल हो सके।

-हरमिन्दर सिंह चाहल.
(फेसबुक और ट्विटर पर वृद्धग्राम से जुड़ें)
हमें मेल करें इस पते : gajrola@gmail.com

इन्हें भी पढ़ें :

जीवन एक गाथा है
विचारों की आपसी रंजिश (Listen Podcast)
आस्तिक और नास्तिक : जीवन कर्म पर निर्भर
जो पूछा जा सकता है, उसका उत्तर हो सकता है

वृद्धग्राम की पोस्ट प्रतिदिन अपने इ.मेल में प्राप्त करें..
Enter your email address:


Delivered by FeedBurner

No comments