यूं ही नहीं दिल लुभाता कोई

yuhi hi nahi dil lubhata koi



















Anjali...

मैंने हमेशा तुम्हें चाहा। कभी नहीं सोचा कि तुम्हारे दिल को ठेस पहुंचे। अब तुमने मुझे क्यों छोड़ दिया? मुझे एक बार बता तो दिया होता।

तुम्हारा चेहरा मेरी जिंदगी के सामने तैर रहा है। तुमने मेरी जिंदगी को नई राह दी। मैं कितना खुश था और कभी-कभी बहुत खुश। इस खुशी का कारण तुम थीं, सिर्फ तुम। मैं नहीं चाहता था कि तुम मुझसे इतना दूर चली जाओगी।.........लेकिन मुझे एक बात बताओगी कि तुमने मुझे बताया क्यों नहीं? क्या तुम्हें मना करता? उस दिन मैंने तुमसे कहा था कि तुम यदि मुझसे दूर जाओ तो मुझे जरुर बता देना।.......पर तुम हो कि चुपचाप मेरी जिंदगी से रुखसत हो गयीं।

दो बूंदें मेरी आंखों से गिरीं। फिर मैंने दिल को तसल्ली दी कि यह फैसला तुम्हारा है। तुम्हारी जिंदगी अपनी है। जैसा चाहो जी सकती हो।

मैंने तुमसे दिल लगाने से पहले यह बिल्कुल नहीं सोचा था कि मैं तुमसे इतना प्यार करुंगा। किसी से यूं ही दिल नहीं लगाया जाता। तुम मुझे अच्छी लगीं। शायद भगवान को यही मंजूर था। प्यार तो बस हो गया।..........लेकिन यह बिल्कुल मालूम नहीं था कि इतना कुछ बदल जायेगा। सचमुच प्यार ने मेरी दुनिया बदल दी।

जिंदगी के एक कोने सब कुछ शांत था। मेरी जिंदगी बस चल रही थी। प्यार की बातों से मैं अंजान था। प्यार करने वालों पर मुझे हंसी आती थी।........लेकिन जब मुझे प्यार हुआ मैं हंसना ही भूल गया। सच में प्यार इंसान को अजीब बना देता है।

मैं अब खुद से कह रहा हूं कि इससे प्यार ही न करता। पर तुम हो ही ऐसी कि तुमसे प्यार कौन नहीं करना चाहेगा। तुम्हारी बातें इतनी मीठी हैं कि कोई भी उनमें खो जाये। तुम्हारा चेहरा इतना सुन्दर है कि कोई भी उसे सदियों तक बिना पलक झपके निहारता रहे। तुम हो ही ऐसी कि मैं तो तुम्हें कभी भूल नहीं सकता।

तुम सबसे अच्छी हो और मेरे लिए हमेशा खास रहोगी। हर जनम में मैं तुम्हें ही पाना चाहता हूं। इसी तरह प्यार करना चाहता हूं। तुम चाहें कितनी भी दूर चली जाओ,......लेकिन इस दुनिया में एक इंसान ऐसा है जो तुम्हें उतना ही प्यार करता रहेगा, क्योंकि............

‘‘तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई,
यूं ही नहीं दिल लुभाता कोई।’’



Yours


Ram


1 comment:

  1. बहुत खूबसूरत एहसास पिरोये हैं ..

    ReplyDelete