मेरा जन्मदिन

birthday cake..so nice..
मैं अपना जन्मदिन नहीं मनाता। यों कह लीजिए मेरे लिए किसी विशेष दिन का उतना महत्व नहीं। साल के तीन सौ पैंसठ या हर चौथे साल वाला एक दिन बाकी की तरह सामान्य होता है। खुशी मिलती है मुझे लोगों को खुश देखकर और उनके उल्लास में शामिल होकर।

  किसी ने पूछा,‘आप जन्मदिन नहीं मनाते।’ यह मेरे लिए नया नहीं था और बुरा लगने वाली इसमें बात भी नहीं।  


वृद्धग्राम की प्रस्तुति समय पत्रिका
Samay Patrika January 2013 issue....Read Online or Download free


  अपनी भाषा में जबाव देने की रणनीति मैंने विकसित कर ली है या ऐसा स्वत: हो जाता है। मेरा कहना था,‘तेरह का आंकड़ा थोड़ा अटपटा होता है।’

  असल में जन्मदिन के सवाल पर जबाव कुछ होता नहीं और होना भी नहीं चाहिए। ऐसे मामले आमतौर पर घरेलू या निजि माने जा सकते हैं, पर मेरे साथ ऐसा भी नहीं।

  कई विषय पेचीदा जरुर हो सकते हैं, लेकिन निष्कर्ष की तलाश हमेशा रहती है। चीजें उठती हैं, गिरती हैं, और एक क्षण ऐसा भी आता है जब तीसरी क्रिया होती है। बस वहीं मैं अपना ‘जन्मदिन’ टिका देता हूं।

-Harminder Singh


No comments