Header Ads

गंजा होने का सुख


लोग इसलिए परेशान हैं क्योंकि उनके बाल गिर रहे हैं या वे कम होते जा रहे हैं। हमारे यहां के एक नेता ने अपना सिर ही मुंडवा दिया। उनका तर्क था कि मोदी के विरोध में यह किया गया है। उनसे किसी ने यह नहीं पूछा कि आज तो मोदी का विरोध है, कल अगर सिर मुंडाते ही ओले पड़ेंगे तो क्या करेंगे?

आजकल टीवी और अखबारों में बालों को लंबे करने के नुस्खे खूब चरचा में हैं। मेरे एक करीबी ने करीब 5 महीने पहले एक तेल खरीदा। उसका दावा था कि इससे उसके बाल गिरने से बच जायेंगे। आज भी उसके बाल उतने ही हैं जितने कई माह पहले थे। उस तेल की शीशी का पता नहीं। उससे पूछने पर वह उत्तर देता है,‘वह एक हादसा था। मैं भूल गया, तुम भी भूल जाओ।’

ठीक है भूल गये…..।

उधर गर्मियों के आने के साथ ही एक लड़के ने पड़ोस के बारबर से अपना सिर मुंडन कराया। उसकी मुस्कान अब लंबी हो गयी है। कारण उसने बताया-‘एक तो बाल धोने की टेंशन से मुक्ति, शेम्पू-तेल का खर्च खत्म और गर्मी से राहत।’

हां….बिल्कुल ठंडा-ठंडा और कूल-कूल।

-Harminder Singh

2 comments:

  1. अपना अपना नजरिया ,किसके सोचने पर क्या बंदिश.

    ReplyDelete
  2. वैसे गर्मियों के मौसम में यह अच्छा है..

    ReplyDelete